भाजपा से गठबंधन तोड़ने के बाद क्या उध्दव ठाकरे के विधायकों ने इस्तीफा दिया था - देवेंद्र फडणवीस 

Source : Hamara Mahanagar Desk - Post By : Rekha Joshi    Thu, Sep 22, 2022, 09:24



उद्धव ठाकरे के वॉर पर फडणवीस का पलटवार 
मुंबई।
शिवसेना में बगावत और भाजपा के साथ मिलकर सरकार बनाने वाले एकनाथ सहित बागी विधायकों का बार -बार इस्तीफा मांगने और विधानसभा चुनाव कराने की मांग करने वाले शिवसेना पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) पर उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने पलटवार किया है.गुरुवार को मीडिया से बातचीत में फडणवीस ने कहा कि साल 2019 के विधानसभा चुनाव के बाद भाजपा से गठबंधन तोड़ने और राकांपा -कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाने के बाद उध्दव ठाकरे के विधायकों ने इस्तीफा दिया था क्या इसका जवाब उन्हें देना चाहिए। फडणवीस ने उध्दव ठाकरे के पूछा की भाजपा से गठबंधन तोड़ने के बाद उन्होंने चुनाव कराने की मांग क्यों नहीं की. अब जब उनकी सत्ता चली गई है और असली शिवसेना और भाजपा की सरकार आ गई है तो वे ऐसी मांग कर रहे है जो बेबुनियाद है. डिप्टी सीएम ने उद्धव ठाकरे पर पलटवार करते हुए कहा कि बार -बार विधायकों का इस्तीफा मांगने और चुनाव कराने की मांग करने वाले उद्धव ठाकरे ने साल 2019 के विधानसभा  चुनाव के बाद क्या उनके विधायकों ने उस समय इस्तीफा दिया था यह बात वे जनता को क्यों नहीं बताते। एटीएस द्वारा पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के 20 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार करने के सवाल पर फडणवीस ने  कहा कि यह एजेंसी द्वारा की गयी समन्वित कार्रवाई है और अब इस पर बात करना उचित नहीं होगा। बतादें की बुधवार को शिवसेना ने गोरेगांव के नेस्को ग्राउंड में गट प्रमुख और  पदाधिकारियों की रैली आयोजित की थी जिसमे उद्धव ठाकरे ने भाजपा और शिंदे गुट पर जोरदार हमला बोलते हुए बागी विधायकों की इस्तीफे और चुनाव कराने की मांग की थी. उन्होंने कहा  था कि अगर गृहमंत्री  अमित शाह (Amit Shah) में   हिम्मत है तो एक महीने के भीतर  मुंबई मनपा और राज्य विधानसभा के चुनाव कराकर दिखाएं उद्धव ठाकरे के इस वॉर पर डिप्टी सीएम ने पलटवार किया।


#महाराष्ट्र,    #उत्तर प्रदेश,    #बिहार