प्रतिबंधित प्लास्टिक पर कार्रवाई करने में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों पर गिरेगी गाज

Source : Hamara Mahanagar Desk - Post By : Rekha Joshi    Thu, Sep 22, 2022, 09:14



मनपा के  जोन के अधिकारी है रडार पर
-  अब तक 19 लाख का जुर्माना वसूला जा चुका है
मुंबई।
प्रतिबंधित प्लास्टिक (banned plastic) पर कार्रवाई करने में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों एव कर्मचारियों पर मनपा कड़ा रूख अपनाने का निणर्य लिया है। मनपा प्रशासन (Municipal Administration) का कहना है की प्रतिबंधित प्लास्टिक का उपयोग करने वालो पर कठोर कार्रवाई करने का निर्देश होने के बावजूद अधिकारी लापरवाही बरत रहे है ऐसा सामने आया है। मनपा प्रशासन ने मुंबई के 6 जोन के अधिकारियों पर निगरानी रखना शुरू किया है। मनपा का मानना है कि अधिकारी जानबूझकर लापरवाही बरत रहे है।
प्रदूषण मुक्त मुंबई के लिए मनपा  ने प्लास्टिक प्रतिबंध के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है। हालांकि यह बात सामने आई है कि छह विभागों में अधिकारी  कार्रवाई करने में लापरवाही कर रहे है।इस पर गंभीरता से संज्ञान लेते हुए  मनपा उपायुक्त संजोग काबरे ने कहा कि प्लास्टिक विरोधी कार्रवाई में विफल होने पर संबंधित अधिकारियों के खिलाफ प्रशासनिक कार्रवाई की जाएगी. मनपा प्रशासन ने  एक जुलाई से चल रहे अभियान में 383 मामलों में  प्रतिबंधित प्लास्टिक उपयोग करने पर 19 लाख 20 हजार का जुर्माना वसूल किया  है. मुंबई को स्वच्छ और सुंदर बनाने के लिए मनपा ने  तरह-तरह के उपाय किए जा रहे हैं। इसमें पर्यावरण संतुलन के लिए जून 2018 से  प्रतिबंधित प्लास्टिक  लागू किया गया है। इसके बाद मनपा  के माध्यम से प्रतिबंधित प्लास्टिक का उपयोग करने वालो पर कार्रवाई शुरू की है।   कोरोना के चलते पिछले दो साल से मुंबई में प्रतिबंधित प्लास्टिक  की कार्रवाई ठंडे बस्ते में चली गई थी.  एक जुलाई से  कार्रवाई फिर से शुरू कर दी गई है। यह कार्रवाई मनपा  के लाइसेंस विभाग, बाजार व दुकाने व स्थापना विभाग की टीम कर रही है.
8 लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई
-  50 माइक्रोन से कम पतली  प्लास्टिक थैली  स्वास्थ्य के लिए खतरनाक हैं और मानसून के दौरान भारी वर्षा के कारण निचले इलाकों में जलभराव का भी कारण  बनता  हैं।
- 2018 में 50 माइक्रोन से पतले  प्लास्टिक बैग की बिक्री और उपयोग  करने वालों और उत्पादों पर रोक लगाया गया।  इसके बावजूद लोग धड़ल्ले से उपयोग किया जा रहा है।  मनपा ने दोबारा शुरू की कार्रवाई में एक जुलाई से अब तक  8 लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई  की है। 
इस प्लास्टिक के उपयोग  पर है  बैन 
- 50 माइक्रोन प्लास्टिक से बने बैग (हैंडल के साथ और बिना); प्लास्टिक से बने डिस्पोजेबल आइटम जैसे प्लेट, कप,  गिलास, चम्मच, आदि; होटलों में खाद्य पैकेजिंग के लिए उपयोग की जाने वाली प्लास्टिक की वस्तुएं, तरल पदार्थ के भंडारण के लिए उपयोग किए जाने वाले कप / पाउच, सभी प्रकार के खाद्य, अनाज आदि के भंडारण और पैकेजिंग के लिए उपयोग किए जाने वाले प्लास्टिक और प्लास्टिक का थैला 


#महाराष्ट्र,    #उत्तर प्रदेश,    #बिहार